Sunday, October 4, 2020

KUFFAR KA SAWAL KAL BHI WAHI THA AUR AAJ BHI WAHI HAI




Kuffar ka sawal kal bhi wahi tha aur aaj bhi wahi hai...aur Qur'an ka jawab kal bhi wahi tha aur aaj bhi wahi hai !!

Subhan Allah !!

--------------------

Imaan lao Allah aur uske rasool pe🙏🙏Quran har sawaal ka jawaab

Quran (36:77-83)
❤👇👇क्या इन्सान ने नहीं देखा कि हमने उसको एक बूँद से पैदा किया, फिर वह स्पष्ट झगड़ालू बन गया। (78) और वह हमारे लिये उदाहरण बयान करता है और वह अपनी रचना को भूल गया। वह कहता है कि हड्डियां को कौन जीवित करेगा जबकि वह चूर-चूर हो गयी हों।

(79) कहो, उनको वही जीवित करेगा जिसने इनको पहली बार पैदा किया। और वह हर प्रकार से पैदा करना जानता है। (80) वही है जिसने तुम्हारे लिए हरे-भरे वृक्ष से आग पैदा कर दी। फिर तुम उससे आग जलाते हो। (81) क्या जिसने आकाशों और पृथ्वी को पैदा किया, वह इस पर सामथ्र्य नहीं रखता कि इन जैसों को पैदा कर दे। हाँ वह सामथ्र्य रखता है। और वही है वास्तविक पैदा करने वाला, जाननेवाला। (82) उसका मामला तो बस यह है कि जब वह किसी चीज़ का निश्चय करता है तो कहता है कि हो जा तो वह हो जाती है। (83) अतः पवित्र है वह हस्ती जिसके हाथ में प्रत्येक चीज़ का अधिकार है और उसी की ओर तुम लौटाये जाओगे।